तो क्या कैंसर के बाद नहीं हो पाएंगी आप गर्भवती!

by Team Onco
543 views

कैंसर के उपचार से आपके यौन जीवन सहित शारीरिक और भावनात्मक परिवर्तन हो सकते हैं। डॉक्टर इस प्रकार के परिवर्तनों को यौन दुष्प्रभाव कहते हैं। उनमें सेक्स में आपकी रुचि और यौन गतिविधियों में भाग लेने की आपकी क्षमता में बदलाव शामिल हैं।

यौन दुष्प्रभाव शारीरिक, मानसिक या भावनात्मक हो सकते हैं। कैंसर का उपचार आपके मूड, शरीर की छवि, शरीर की ऊर्जा स्तर को प्रभावित कर सकता है। इसका सीधा असर आपके सेक्स जीवन पर पड़ सकता है।

कैंसर का उपचार आपके मूड, शरीर की छवि, शरीर की ऊर्जा स्तर को प्रभावित कर सकता है। इसका सीधा असर आपके सेक्स जीवन पर पड़ सकता है।

ऐसे में यह बेहद जरूरी है कि आप अपने उपचार के दौरान और बाद में, अपने यौन स्वास्थ्य के बारे में अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम के साथ खुलकर बात करें। यदि संभव हो तो उपचार शुरू करने से पहले ही ऐसा करें। इससे डॉक्टर आपके लक्षणों का मूल्यांकन कर उपचार से पहले, दौरान और बाद में आपकी परेशानियों का समाधान कर सकते हैं। उपचार योजना चुनने में यौन दुष्प्रभाव भी एक कारक हो सकता है। 

लक्षण और दुष्प्रभाव

उपचार के दौरान या उसके ठीक बाद आपकी यौन समस्याएं बढ सकती हैं। हालांकि यह कुछ समय तक रह सकती हैं, या स्थायी हो सकते हैं। हर महिला अलग होती है। अपने स्वास्थ्य देखभाल टीम को अपने लक्षणों के बारे में जरूर बताएं, जिसमें कोई भी नया लक्षण या लक्षणों में किसी भी तरह का परिवर्तन शामिल हो।

संभावित यौन दुष्प्रभावों में शामिल हैंः

  • यौन इच्छा में कमी 
  • यौन उत्तेजना (sexual arousal) प्राप्त करने या बनाए रखने में असमर्थता
  • स्नेहन (lubrication) की कमी 
  • संभोग सुख प्राप्त करने में कठिनाई होना या असमर्थता
  • सेक्स के दौरान दर्द महसूस होना
  •  जननांगों का दर्द या सुन्न होना

विकिरण चिकित्सा के दुष्प्रभाव अक्सर यौन इच्छा को कम करते हैं।

उपचार जो यौन समस्याएं पैदा कर सकते हैं

आपके यौन जीवन को प्रभावित करने के लिए कुछ उपचार दूसरों की तुलना में अधिक संभावित हैं। निम्नलिखित उपचारों से यौन समस्याएं हो सकती हैं।

विकिरण चिकित्सा

विकिरण चिकित्सा के दुष्प्रभाव अक्सर यौन इच्छा को कम करते हैं। जिससे आपको कुछ लक्षण महसूस होते हैं, जिनमें शामिल हो सकते हैंः

  • थकान
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • दस्त

इस बीच, विकिरण चिकित्सा योनि में सूखापन, खराश और दर्द का कारण बन सकती है। ये दुष्प्रभाव उपचार के कुछ सप्ताह बाद हो सकते हैं। इससे निशान ऊतक भी योनि को छोटा या सिकोड सकते हैं। इस तरह के परिवर्तन सेक्स के दौरान महिलाओं को दर्द देते हैं।

जिन महिलाओं को मैनोपोज नहीं शुरू हुआ है, उपचार के बाद या दौरान उनका मासिक धर्म अचानक से रुक सकता है। इसे शुरुआती मैनोपोज कहा जाता है। इसमें निम्नलिखित यौन लक्षण शामिल हो सकते हैं, जो सेक्स के दौरान दर्द में काफी ज्यादा भागीदारी निभाते हैंः

  • कम यौन इच्छा होना
  • योनि में सूखापन होना
  • वुल्वर और योनि में खुजली होना
  • वुल्वर और योनि में जलन होना

कीमोथेरेपी

कीमोथेरेपी से पैदा हुए साइड इफेक्ट्स यौन इच्छा और आत्म-छवि को प्रभावित कर सकते हैं। इसमें शामिल हो सकते हैंः

  • वजन बढ़ना या कम होना
  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • दस्त

कोख या मूत्राशय में इंजेक्ट किए जाने वाले कीमोथेरेपी के प्रकार कोख में जलन पैदा कर सकते हैं। यह सेक्स को आपके लिए तब तक दर्दनाक बना सकता है जब तक कि शरीर ठीक न हो जाए। साथ ही, छोटी उम्र की महिलाओं में डिम्बग्रंथि के काम (ovarian function) को भी खतरा होता है। यह दुष्प्रभाव अस्थायी या स्थायी हो सकते हैं।

ऐसे में आप अपने चिकित्सक से किसी भी एंटी-कैंसर दवाओं के संभावित यौन दुष्प्रभावों के बारे में पूछें, जिसमें टारगेट थेरेपी या इम्यूनोथेरेपी शामिल हो, जो आपकी उपचार योजना का हिस्सा है।

अन्य दवाएं

उपचार के दुष्प्रभावों के लिए दवाएं यौन गतिविधियों में रुचि कम कर सकती हैं। इनमें कुछ दर्द निवारक या अवसादरोधी दवाएं शामिल हैं।

स्त्री रोग संबंधी सर्जरी (Gynecologic surgery) – एक महिला के प्रजनन अंगों पर सर्जरी योनि की लंबाई, नसों, मांसपेशियों और रक्त की आपूर्ति को प्रभावित कर सकती है। सर्जरी भी योनि या पुराने पेल्विक दर्द को कम कर सकती है। ये परिवर्तन यौन कार्य को प्रभावित कर सकते हैं। जिन महिलाओं का मैनोपोज शुरू नहीं उनके दोनों अंडाशय निकाल दिए जाने पर वह जल्दी मैनोपोज का अनुभव करती हैं।

कोलोरेक्टल या मूत्राशय की सर्जरी

कभी-कभी, सर्जरी कुछ भाग या बृहदान्त्र, मलाशय या मूत्राशय को हटा देती है। इसके लिए कोलोस्टॉमी या यूरोस्टॉमी की आवश्यकता हो सकती है। ये आपके आत्मविश्वास और शरीर की छवि को प्रभावित कर सकते हैं। कोलोस्टॉमी में आपके शरीर से मल निकालने के लिए डॉक्टर आपके पेट में एक खास रूप का छेद बनाते हैं। मूत्रत्याग  (urostomy) शरीर से यूरिन निकालने के लिए की जाती है। 

स्तन कैंसर की सर्जरी

एक स्तन का हिस्सा या दोनों स्तनों को खोना एक महिला के शरीर की छवि को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, सर्जरी स्तन में अनुभव को बदल या समाप्त कर सकती है। 

कई कैंसर उपचार प्रजनन क्षमता को अस्थायी या स्थायी रूप से प्रभावित करते हैं।

कैंसर का उपचार प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करता है ?

कई कैंसर उपचार प्रजनन क्षमता को अस्थायी या स्थायी रूप से प्रभावित करते हैं। प्रजनन क्षमता गर्भवती बनने की क्षमता होती है। गर्भवती होने या गर्भावस्था को बनाए रखने में बांझपन एक अक्षमता है।

उपचार शुरू होने से पहले, अपनी स्वास्थ्य देखभाल टीम के साथ बात करें। पूछें कि उपचार आपकी प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित कर सकता है। और प्रजनन क्षमता के संरक्षण के लिए अपने विकल्पों के बारे में भी डाॅक्टर से बात करें।

महिलाओं को कैंसर या उसके उपचार के लिए प्रजनन संबंधी समस्याएं 2 मुख्य तरीकों से होती हैंः

1- प्रजनन में शामिल अंगों को नुकसान, जैसे अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब, गर्भाशय और गर्भाशय ग्रीवा

2- हार्मोन उत्पादन में शामिल अंगों को नुकसान, जैसे अंडाशय

अंडाशय में एक महिला के अंडे संग्रहित रहते हैं। इन अंगों के नुकसान से अंडाशय में यह संग्रह नहीं हो पाते हैं। अंडाशय आरक्षित दोनों अंडाशय में अपरिपक्व अंडे की कुल संख्या है। महिलाएं उन सभी अंडों के साथ पैदा होती हैं जो उनके पास होंगे। एक बार जब ये अंडे खत्म हो जाएं, तो उन्हें बदला नहीं जा सकता। स्वस्थ अंडे के नुकसान से बांझपन और शुरुआती मैनोपोज की स्थिति पैदा होती है।

कैंसर उपचार जो प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं

इन कैंसर उपचारों से संभावित प्रजनन-संबंधी दुष्प्रभाव हो सकते हैंः

कीमोथेरेपी

कीमोथेरेपी में विशेष रूप से अल्काईलेटिंग एजेंटों नामक दवाएं, प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती हैं। इसमें शामिल हैंः

बुसुल्फैन (बिसलफेक्स, माइलरन) Busulfan (Busulfex, Myleran)

कारमस्टाइन (BiCNU) Carmustine (BiCNU)

क्लोरैम्बुसिल (ल्यूकेरन) Chlorambucil (Leukeran)

साइक्लोफॉस्फामाइड (नियोसर) Cyclophosphamide (Neosar)

डॉक्सोरूबिसिन ( एड्रियामाइसिन) Doxorubicin (Adriamycin)

लूमुस्टिन (CeeNU) Lomustine (CeeNU)

मेक्लोरोथमाइन (मस्टर्जेन) Mechlorethamine (Mustargen)

मेलफालन (एल्केरन) Melphalan (Alkeran)

प्रोकाबजिन (मातुलने) Procarbazine (Matulane)

कैंसर के उपचार में उपयोग की जाने वाली अन्य दवाओं में भी प्रजनन जोखिम हो सकता है। अपने उपचार योजना में अनुशंसित विशिष्ट दवा के बारे में अपने डॉक्टर से पूछें।

यह भी पढ़ें: कैंसर के बारे में ये तथ्य नहीं जानते होंगे आप

यह भी पढ़ें: पुरुषों में होने वाले 5 सबसे आम कैंसर 

विकिरण चिकित्सा

शरीर के अंगों को विकिरण चिकित्सा प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है, जिनमें शामिल हैंः 

  • पेट
  • कोख 
  • निचली रीढ़
  • अंडाशय और अंडाशय के पास के क्षेत्र
  • गर्भाशय
  • मस्तिष्क में पिट्यूटरी ग्रंथि
  • बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए पूरे शरीर

सर्जरी 

इन प्रजनन अंगों के सर्जिकल हटाने से प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती हैः

  • एक प्रक्रिया में गर्भाशय जिसे हिस्टेरेक्टोमी कहा जाता है।
  • एक हिस्टेरेक्टॉमी या एक प्रक्रिया में गर्भाशय ग्रीवा जिसे ट्रेक्लेक्टोमी कहा जाता है, जो गर्भाशय शरीर को संरक्षित करता है।
  • एक प्रक्रिया में एक या दोनों अंडाशय, जिसे ओओफोरेक्टोमी कहा जाता है।     

Related Posts

Leave a Comment

Here are frequently asked questions answered on coronavirus and its impact on cancer patients हिन्दी