ल्यूकेमिया: अपने बच्चे के कैंसर के सफर को ऐसे बनाएं आसान 

by Team Onco
111 views

ल्यूकेमिया बच्चों में सबसे आम कैंसर है। ल्यूकेमिया एक प्रकार का ब्लड कैंसर हैं जो कोशिकाओं में शुरू होता हैं और उससे सामान्य रूप से विभिन्न प्रकार की ब्लड सेल्स में विकसित होते हैं।

समय पर इसके निदान और एडवांस ट्रीटमेंट ने ल्यूकेमिया वाले बच्चों में जीवित रहने की दर में काफी सुधार किया है। हालांकि, सवाईवर को कैंसर के वापस आने और लंबे वक्त तक इसके परिणामों के लिए बारीकी से निगरानी करने की आवश्यकता है। 

Table of Contents

ल्यूकेमिया वाले बच्चों के माता-पिता के लिये कुछ टिप्स 

जब एक बच्चे को ल्यूकेमिया का निदान किया जाता है, तो यह न केवल बच्चे को बल्कि परिवार को भी प्रभावित करता है। कैंसर की दस्तक एक परिवार में निराशा, सदमा और चिंता लेकर आती है। 

बार-बार अस्पताल जानाए कई तरक के उपचार और बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में अनिश्चितता माता-पिता को चिंतित और भावनात्मक रूप से थका सकती है।

हालांकि, निदान और उपचार के दौरान माता-पिता को मजबूत रहना चाहिए। आमतौर पर, बच्चा अपने माता-पिता को उसकी चिंता करते हुए देखकर और परेशान हो सकता है, जो उसके उपचार के परिणामों पर अप्रत्यक्ष रूप से प्रभाव डाल सकता है।

इसलिए माता-पिता के लिए यह जरूरी है कि वे इस सफर के दौरान बच्चे को मोटिवेट करें खुद भी पाॅजिटिव रहें।

माता-पिता बीमारी के बारे में पर्याप्त जानकारी लेकर, उपचार के दौरान आगे के सफर को पाॅजिटिव तरीके से देख सकते हैं। जिससे आप इस दौरान आपको अपना डेली रूटीन बनाने और मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखने के साथ-साथ अपने बच्चे को इस कठिन समय से उबरने में मदद कर सकते हैं।

अपने बच्चे के निदान के बाद कैसे करें चीजों को मैनेज 

माता-पिता यह सुनने के लिए कभी तैयार नहीं होते कि उनके बच्चे को कैंसर है। उनके मन में सबसे पहले सही बात आएगी कि “यह मेरे बच्चे के साथ कैसे हो सकता है? और मेरे बच्चे को यह क्यों भुगतना पड़ रहा है?” 

हर एक माता-पिता अपनी भावनाओं को अलग तरह से व्यक्त करेंगे। हालांकि, माता-पिता को अपनी भावनाओं को संभालना और ट्रीटमेंट प्लान के बारे में सही निर्णय लेना सीखना होगा।

नीचे दी गई बातें माता-पिता को अपनी भावनाओं से बेहतर तरीके से निपटने में मदद कर सकते हैं:

  1. निदान के बारे में पूरी तरह से सही जानकारी लेने के लिए कुछ समय निकालें।
  2. स्वीकार करें कि कुछ चीजों को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  3. विश्वास रखें कि आप स्थिति को संभाल सकते हैं।
  4. यह महसूस करें कि अपने बच्चे को अच्छी तरह से सहारा देने के लिए आपको खुद मजबूत होना चाहिए।
  5. अपने प्रियजनों या अन्य कैंसर सवाईवर से सहायता लें।
  6. प्रोफेशनल से मदद लें। 

ऑन्कोलॉजिस्ट से सवाल पूछें

विश्वसनीय स्रोतों से ल्यूकेमिया और इसके उपचार के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करें। आप पाएंगे कि स्थिति के बारे में जानकारी होने के बाद आपको कम डर लगात है, और आप अपने बच्चे का सर्पोट करने के लिए और बेहतर तरीके से तैयार रहती हैं।

माता-पिता मेडिकल टीम से निम्नलिखित प्रश्न पूछकर अपनी शंकाओं और चिंताओं को स्पष्ट कर सकते हैं:

मेरे बच्चे को किस प्रकार का ल्यूकेमिया है?

उपचार के विकल्प क्या हैं?

उपचार में कितना समय लगेगा?

इस उपचार से जुड़े जोखिम और दुष्प्रभाव क्या हैं?

उपचार में खर्चा कितना आएगा? क्या हेल्थ बीमा इसे कवर करेगा?

क्या उपचार मेरे बच्चे के बढ़ने और विकसित होने की क्षमता को प्रभावित करेगा?

क्या यह कैंसर दोबारा हो सकता है?

सेकेंड ओपिनियन लें

सेकेंड ओपिनियन लेने से बीमारी और उसके पूर्वानुमान की बेहतर समझ लेने और उपचार विकल्पों के बारे में विश्वास हासिल करने में मदद मिल सकती है। कंसल्टेशन के दौरान, नए डॉक्टर को अपने बच्चे की डायग्नोटिक रिपोर्ट और बाकी की रिपोर्ट की पूरी जानकारी ज़रूर दें।

सेकेंड ओपिनियन के आधार परए आप अपने बच्चे के लिए बेहतद इलाज के बारे में निर्णय लेने की स्थिति में हो सकते हैं।

अपने बच्चे के मेडिकल रिकॉर्ड को प्रबंधित और व्यवस्थित करें

हेल्थकेयर टीम और बीमा कंपनियां भुगतान और प्रतिपूर्ति की कागजी प्रक्रिया पूरी करती है। 

अस्पताल के सभी बिलों और मेडिकल रिपोर्ट की काॅपीज के साथ एक फाइल रखना कई मायनों में बहुत मददगार होगा। यह इलाज करने वाले डॉक्टरों को रिपोर्ट के आधार पर इलाज के बारे में समझने में मदद करेगा, बीमा कंपनियों को बिना किसी देरी के बिलों की प्रतिपूर्ति करने में मदद मिलेगी, और अंत में, यह आपको पूरी प्रक्रिया को समझने में मदद करेगी। 

एक मेडिकल रिकॉर्ड में निम्नलिखित चीजें शामिल होनी चाहिए:

  • मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन
  • ब्लड टेस्ट सहित जांच रिपोर्ट।  
  • आपके डॉक्टर की वर्तमान ट्रीटमेंट प्लान या विकल्प के रूप में आपको दिए गए प्लान का सारांश।
  • अस्पताल से डिस्चार्ज ऑर्डर/डाक्यूमेंट्स।   
  • आपके बच्चे के ल्यूकेमिया का इलाज करने वाले स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के बारे में संपर्क जानकारी।  
  • स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं, लैब्स और अस्पताल के बिल।  
  • आपके या अस्पताल के द्वारा क्लेम किया गया इंश्योरेंस।

खर्चों को मैनेज करें

ल्यूकेमिया का इलाज महंगा है। जिस वजह से, चल रहे कैंसर के इलाज के दौरान माता-पिता को वित्तीय बोझ महसूस हो सकता है।

एक बुनियादी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी अस्पताल में भर्ती सहित कैंसर के निदान और इलाज से जुड़े खर्चों को कवर करने में मदद कर सकती है।

परिवार और सर्पोट ग्रुप से सहायता लें

ल्यूकेमिया से पीड़ित बच्चे का केयर गिवर हेना ज्ञोड़ा स्ट्रेसफुल हो सकता है। कैंसर की केयर टीम से सही सहायता देने से लेकर आपको मजबूत बने रहने और अपने बच्चे की सही तरह देखभाल प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिल सकती है।

अपने विचारों और भावनाओं को अपने प्रियजनों और अपने परिवार के साथ साझा करने से आपको स्थिति से निपटने की ताकत मिलेगी। उनसे मदद स्वीकार करना सीखें।

इसी तरह की स्थिति में अन्य माता-पिता के साथ एक बातचीत भी आपके तनाव और चिंता को कम करने में मदद करेगी। कई सहायता समूह भी हैं जो मानसिक और भावनात्मक समर्थन के साथ कैंसर रोगियों और उनके परिवार का समर्थन करते हैं।

फाॅलो-अप के लिए जाते रहें 

फाॅलो-अप महत्वपूर्ण है क्योंकि यह सुनिश्चित करता है कि उपचार के लंबे समय तक दुष्प्रभावों का निदान, समय पर इलाज किया जाता है, और बच्चे को ल्यूकेमिया के वापस आने के लिए जांच की जाती है। फाॅलो-अप को आमतौर पर निम्नानुसार निर्धारित किया जाता है:

  • उपचार के बाद पहले 6 से 12 महीने: हर महीने एक फाॅलो-अप।
  • अगले 4 वर्षों के लिए: हर 3 से 6 महीने में एक फाॅलो-अप।
  • 4 साल बाद: हर साल एक फाॅलो-अप।

बच्चे के पोषण का ध्यान रखें

ल्यूकेमिया का इलाज करा रहे बच्चे को पर्याप्त पोषण प्रदान करना माता-पिता के लिए एक बड़ी चुनौती है। क्योंकि, बच्चा अपना स्वाद खो सकता है और मतली और उल्टी का अनुभव कर सकता है, जिसके परिणामस्वरूप भूख कम लगती है। उल्टी और दस्त के कारण पानी की कमी के कारण वे डिहाइड्रेट हो सकते हैं। 

उपचार का सामना करने के लिए, ल्यूकेमिया वाले बच्चों को प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और हेल्दी फैट से भरपूर आहार लेना चाहिए। माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चा हाइड्रेटेड रहने के लिए बहुत सारे तरल पदार्थ, विशेष रूप से पानी पी रहा है।

अपने आप की ध्यान भी रखें 

माता-पिता के रूप में, आपका प्राथमिक ध्यान आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर है। लेकिन, अपने बच्चे को सर्वोत्तम संभव देखभाल प्रदान करने के लिए, आपको शारीरिक और भावनात्मक रूप से स्वस्थ होना चाहिए। यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जिनसे माता-पिता अपना सकते हैं: 

  • रात को अच्छी नींद लें।
  • अपने पसंदीदा शौक के साथ एक ब्रेक लें।
  • हेल्दी भोजन करें और किसी प्रकार का व्यायाम करें।
  • चिंता और तनाव को कम करने के लिए विश्राम तकनीकों और स्ट्रेस-रिलीफ एक्सरसाइज करें।
  • अपने दोस्तों या परिवार के सदस्यों से संपर्क करके एक सर्पोट सिस्टम बनाएं।

माता-पिता बच्चे की सबसे विश्वसनीय सर्पोट सिस्टम हैं और उनके बच्चे के उपचार के परिणाम पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ सकता है। माता-पिता को उपचार के परिणामों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखने का प्रयास करना चाहिए ताकि उनका बच्चा उसी ओर बढ़े।

Related Posts

Leave a Comment