कैंसर उपचार के दौरान बेहतर नींद लेने के कुछ आसान टिप्स

by Team Onco
433 views

कैंसर के उपचार में एक मरीज कई तरह की परेशानियों से गुज़रना पड़ता है। रोगी अक्सर रात में सोने में कठिनाई, नींद में खलल और खराब नींद की शिकायत करते हैं। इसका एक कारण कैंसर से होने वाली चिंता और तनाव भी हैं, कुछ कैंसर की दवाएं भी इसका कारण हो सकती हैं।

क्या सभी कैंसर की दवाएं अनिद्रा का कारण बनती हैं

क्या सभी कैंसर की दवाएं अनिद्रा का कारण बनती हैं? 

कैंसर की सभी दवाएं नींद की समस्या पैदा नहीं करती हैं। आप एक बार अपने डाॅक्टर से इस बारे में बात ज़रूर करें कि क्या आपको दी जाने वाली दवाओं में से कोई भी आपकी नींद के पैटर्न में परेशानी पैदा कर सकती है।

कुछ एंटी-इमेटिक दवाएं दिन के दौरान उनींदापन का कारण बन सकती हैं, जो बदले में रात में आपकी नींद को प्रभावित करती हैं। कुछ कीमोथेरेपी दवाओं से दिन में थकान भी हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप आपको दिन में ज्यादा और रात में कम नींद आ सकती है। स्टेरॉयड युक्त दवाएं आपको सोने से पहले एक्टिव और रात को नींद की परेशानी दे सकती हैं। 

नाॅन-कैंसर से संबंधित दवाएं जैसे अवसाद रोधी, उच्च रक्तचाप के लिए बीटा ब्लॉकर्स, एलर्जी की दवा, अस्थमा की दवा आदि भी नींद की समस्या पैदा कर सकती हैं।  

कैंसर की सभी दवाएं नींद की समस्या पैदा नहीं करती हैं

मुझे कैसे पता चलेगा कि मुझे अनिद्रा की समस्या है?

यदि आप अनिद्रा (insomnia) से पीड़ित हैं, तो यह जानने में आपकी सहायता के लिए यहां एक आसान चेकलिस्ट दी गई हैः

  • क्या आपको पिछले एक सप्ताह में कम से कम तीन रात सोने में परेशानी हुई है?
  • यदि यह समस्या एक महीने या उससे अधिक समय से बनी हुई है?
  • कहीं आपको सोना मुश्किल तो नहीं हो रहा है?
  • आपकी नींद रात में कई बार खुल रही है?
  • क्या आप आमतौर पर बहुत जल्दी उठते हैं और फिर से सो जाने के लिए संघर्ष करते हैं?
  • नींद से उठने के बाद भी हमेशा थकान महसूस करते हैं?
  • क्या आप दिन में इतना थका हुआ महसूस करते हैं कि आप एकाग्र नहीं हो पाते?

यदि आपने उपरोक्त अधिकांश प्रश्नों का उत्तर हां में दिया है, तो आप अनिद्रा से पीड़ित हो सकते हैं। अपने डॉक्टर से बात करें ताकि वे इसे बेहतर तरीके से प्रबंधित करने में आपकी मदद कर सकें।

अनिद्रा के अन्य कारण कुछ इस प्रकार हैंः

कैंसर की दवा के अलावा आपकी अनिद्रा के और भी कारण हो सकते हैं। इनमें शामिल हैंः

तनाव

कैंसर निदान के बाद रोगी के साथ-साथ उनके देखभाल करने वालों, परिवार और दोस्तों के लिए गंभीर तनाव और चिंता का कारण बन सकता है। एक कैंसर काउंस्लर रिलैक्सेशन तकनीकों, कमजोर होने के तरीकों में बदलाव, या यहां तक कि दवा के माध्यम से आपके तनाव को प्रबंधित करने में आपकी सहायता कर सकता है।

डेली शेड्यूल

यदि आपको इलाज के लिए यात्रा करनी पड़ रही है या कई बार अस्पताल जाने की ज़रूरत है, तो यह आपकी दिनचर्या को प्रभावित कर सकता है। यह आपके सामान्य समय पर सोने में कठिनाई पैदा कर सकता है, और नींद की गुणवत्ता को भी प्रभावित कर सकता है।

खाने की आदत

अगर आप शाम को बहुत देर से खा रहे हैं, तो यह नींद को प्रभावित कर सकता है। कॉफी, चाय या ठंडे पेय जैसे कैफीन युक्त उत्पादों का सेवन भी अनिद्रा का कारण बन सकता है।

सिगरेट या चबाने योग्य उत्पादों के रूप में निकोटीन का सेवन आपको नींद आने से रोक सकता है। दूसरी ओर, शराब आपको सो जाने में मदद कर सकती है, लेकिन यह आपको गहरी नींद में प्रवेश करने से रोकती है और अक्सर आपको आधी रात में जगा देती है।

एक्टिव न रहना

दिन के दौरान शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से आपको बेहतर नींद आने में मदद मिलती है। यदि आप दिन में ज्यादातर बैठे या लेटे रहे हैं, तो आपको रात में सोने के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है।

स्वास्थ्य समस्याएं

आप कैंसर से संबंधित समस्याओं से पीड़ित हो सकते हैं, जैसे स्लीप एपनिया, अस्थमा, थायराइड आदि। ये आपको सोने में खलल पैदा करने के कुछ कारक हैं।

अपनी नींद को बेहतर बनाने के लिए कुछ टिप्स

अच्छी नींद लेने के लिए मुझे क्या करना चाहिए?

इस परेशानी के लिए आपका डॉक्टर आपकी मदद करने के लिए दवाएं लिख सकता है। लेकिन कुछ चीजें हैं जो आप अपनी नींद को बेहतर बनाने के लिए कर सकते हैं। 

आराम करें

सोने से पहले रोजाना रिलैक्सेशन रूटीन फाॅलो करने से आपको आसानी से नींद आने में मदद मिल सकती है। यहां कुछ टिप्स दिए हैं जिन्हें आप आजमा सकते हैंः

सोने से पहले आराम से नहा लें 

  • डिफ्यूजर में या हल्की मालिश के लिए लैवेंडर जैसे सुगंधित तेलों का उपयोग करें।
  • सोने से पहले रिलैक्सेशन ड्रिंक जैसे कैमोमाइल टी या माल्टेड दूध का सेवन करें। 
  • रात के वक्त सोने के समय रोशनी कम करें, और टीवी स्क्रीन या तेज संगीत जैसे ध्यान भटकाने वाली चीजों से दूरी बनाएं। 
  • किसी भी तरह की बाधा से बचने के लिए अपना फोन दूसरे कमरे में रखें। 
  • किसी भी तरह के सीरियल टाॅपिक और नेगेटिव खबरों से दूरी बनाएं।
  • गहरी साँस लेने वाले व्यायाम करें।

रूटीन

रोजाना सोने के समय का पालन करने वाली दिनचर्या निर्धारित करने से आपको बेहतर नींद लेने में मदद मिल सकती है। उदाहरण के लिए, आपकी दिनचर्या में आराम से स्नान करना, उसके बाद त्वचा की देखभाल की दिनचर्या, सूदिंग म्यूजिक सुनना और फिर सो जाना शामिल हो सकता है। एक ही दिनचर्या से चिपके रहना आपके सोने के समय का मस्तिष्क को संकेत देता है। 

साथ ही रोजाना एक ही समय पर व्यायाम और भोजन करना आपको बेहतर नींद में मदद करता है। सोने के समय के बहुत करीब व्यायाम करने से बचें। सोने से पहले हल्का भोजन करें।

सेटिंग

  1. अपने बेडरूम में एक आरामदायक और कोज़ी सेटिंग बनाएं।
  2. सुनिश्चित करें कि सोते समय कमरे में अंधेरा हो। कमरे में रोशनी न आ पाएं इसके लिए मोटे पर्दों का इस्तेमाल करें।
  3. जरूरत पड़ने पर आई मास्क का इस्तेमाल करें।
  4. सुनिश्चित करें कि आपके कमरे का तापमान उपयुक्त हो, न बहुत गर्म न  ठंडा हो।
  5. बिस्तर पर साफ चादरें और रात में आराम से रहने के लिए तकिए का प्रयोग करें।
  6. सुनिश्चित करें कि बेडरूम में शांति हो।

दवाई

यदि समस्या बनी रहती है, तो आपका डॉक्टर आपको बेहतर नींद में मदद करने के लिए विटामिन, मेलाटोनिन की खुराक, दर्द निवारक दवा (यदि दर्द अनिद्रा का कारण है) या दवा लिख सकता है। नींद की समस्या वाले कैंसर रोगियों के लिए आमतौर पर निर्धारित कुछ दवाएं यहां दी गई हैंः

  • एंटीडिप्रेसन्ट (Antidepressants)
  • बेन्ज़ोदिअज़ेपिन्स (Benzodiazepines)
  • हिप्नोटिक्स (Hypnotics)
  • एंटिहिस्टामाइन्स (Antihistamines)

इन चीजों से बचें

  1. सोने से पहले कॉफी या कैफीनयुक्त पेय का सेवन न करें। 
  2. रात को सोने के समय या पहले व्यायाम न करें। 
  3. सोने के समय के करीब भारी भोजन न करें। 
  4. शराब या मीठा पेय पदार्थ न पीएं। 
  5. दिन में बहुत अधिक झपकी न लें। 
  6. नींद से संबंधित गतिविधियों के लिए अपने बिस्तर का उपयोग करना, जैसे पढ़ना या टीवी न देखें। 
  7. सोने से पहले लैपटॉप, टैबलेट और मोबाइल जैसी स्क्रीन का इस्तेमाल न करें। 

इसे भी पढ़ें: कैंसर फूड के बारे में कुछ मिथक

इन 15 तरीकों से खुद को रखें हेल्दी

Onco.com कैंसर सपोर्ट ग्रुप : इस सफर में अकेले नहीं हैं आप

Related Posts

Leave a Comment