ब्लैडर कैंसर के 5 लक्षण

by Team Onco
205 views

ब्लैडर कैंसर एक सामान्य प्रकार का कैंसर है जो मूत्राशय की कोशिकाओं में शुरू होता है। मूत्राशय आपके निचले पेट में एक खोखला मजबूत अंग है जो मूत्र को जमा करता है। 

ब्लैडर कैंसर अक्सर उन कोशिकाओं (यूरोथेलियल कोशिकाओं) में शुरू होता है जो आपके मूत्राशय के अंदर की रेखा बनाती हैं। यूरोटेलियल कोशिकाएं आपके गुर्दे और मूत्राशय से इसे को जोड़ने वाली नलियों (मूत्रवाहिनी) में भी पाई जाती हैं। यूरोटेलियल कैंसर (Urothelial Cancer) गुर्दे और मूत्रवाहिनी में भी हो सकता है, लेकिन यह मूत्राशय में ज्यादा आम है। 

मूत्राशय के कैंसर के शुरुआती लक्षण

मूत्राशय के कैंसर के शुरुआती लक्षण

संकेतों और लक्षणों को जानने से आपको जल्द निदान करने में मदद मिल सकती है, जिससे आपके रोग का निदान बेहतर हो सकता है। आइए जानते हैं उन लक्षणों के बारे मेंः

1- यूरीन में ब्लड (हेमट्यूरिया) (Blood in the urine (hematuria))

यह मूत्राशय के कैंसर का सबसे आम प्रारंभिक लक्षण है और आमतौर पर इसे मूत्राशय के कैंसर के पहले लक्षण के तौर पर देखा जाता है। इसे अनदेखा करना आसान है क्योंकि यह आमतौर पर दर्द रहित होता है और यह हफ्तों या महीनों तक भी जा सकता है।

कई महिलाएं इस लक्षण को नजरअंदाज कर देती हैं क्योंकि वे इसे मासिक धर्म (Menstrual) या मैनोपोज (Menopause) समझ लेती हैं। यदि आप सुनिश्चित नहीं हैं कि कोई समस्या है, तो आपका सबसे अच्छा विकल्प मूत्र रोग विशेषज्ञ (Urologist) से परामर्श करना है। 

2- यूटीआई जैसे लक्षण (UTI symptoms)

मूत्राशय के कैंसर (Bladder Cancer) को यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (यूटीआई) के लिए गलत समझा जा सकता है क्योंकि कई लक्षण ओवरलैप होते हैं। मरीजों को पेशाब की बढ़ी हुई आवृत्ति और तात्कालिकता, पेशाब के साथ दर्द या मूत्र असंयम का अनुभव हो सकता है। यदि आपको मूत्र संबंधी कोई समस्या दिखाई देती है, आपको हर समय जाना पड़ता है, या आपको ऐसा महसूस होता है कि पेशाब आ रहा है, लेकिन जाकर कुछ नहीं होता, या आपको अपना मूत्राशय खाली करने में कठिनाई हो रही है, या यदि एंटीबायोटिक्स आपके लिए मददगार नहीं हो रहे हैं। ये सभी यूटीआई के लक्षण, अपने डॉक्टर से बात करें। 

3- असहनीय दर्द (Unbearable pain)

एडवांस मूत्राशय के कैंसर में अक्सर दर्द ज्यादा होता है। दर्द फ्लैंक एरिया, पेट या पेल्विस (Pelvis) में हो सकता है। यदि कैंसर उनकी हड्डियों में फैल गया है तो मरीजों को हड्डियों में दर्द भी हो सकता है। यदि आपको उन क्षेत्रों में दर्द रहा है, तो अपने डॉक्टर को बताएं- खासकर यदि आपने स्पॉटिंग या यूटीआई के लक्षण भी देखे हैं।

4- कम भूख लगना (Low appetite)

भूख कम लगना एक सामान्य कैंसर लक्षण है, और मूत्राशय का कैंसर कोई अपवाद नहीं है। यदि कैंसर बढ़ गया है या फैल गया है, तो आप वजन घटाने का अनुभव कर सकते हैं या थका हुआ और कमजोर महसूस कर सकते हैं। बेशक, और भी बहुत सी चीजें हैं जो आपकी भूख को कम कर सकती हैं, इसलिए अगर ऐसी स्थिति लंबे वक्त तक बनी रहती है तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

5- पोस्टमेनोपॉजल गर्भाशय रक्तस्राव (Postmenopausal uterine bleeding)

मेनोपॉज के बाद आपको जो भी खून या धब्बे दिखाई देते हैं, वह ब्लैडर कैंसर या किसी अन्य अंतर्निहित समस्या का लक्षण हो सकता है। मूत्र में रक्त के समान, इसे अनदेखा करना आसान हो सकता है, लेकिन यह अनुशंसा की जाती है कि आप अपने मूत्र रोग विशेषज्ञ से सुरक्षित रहें।

ब्लैडर कैंसर के जोखिम कारक

ब्लैडर कैंसर के जोखिम कारक

 जब तक मूत्राशय के कैंसर की बात आती है, तब तक धूम्रपान सबसे बड़ा जोखिम कारक है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार, मूत्राशय के कैंसर से पीड़ित लगभग 50 प्रतिशत महिलाएं धूम्रपान करने वाली हैं। चूंकि धूम्रपान करने वालों के लिए कैंसर के मामलों की दर बहुत अधिक है, यदि आप इनमें से कोई भी लक्षण देखते हैं और आप धूम्रपान करते हैं, तो जितनी जल्दी हो सके अपने डॉक्टर को बताएं। 

एक अन्य प्रमुख जोखिम कारक पहले मूत्राशय का कैंस र होना है। मूत्राशय के कैंसर में 50-80 प्रतिशत वापस आने की दर होती है, जो कि किसी भी प्रकार के कैंसर में सबसे अधिक है। यही कारण है कि अपने चिकित्सक से लगातार जांच कराते रहें, और मूत्राशय के कैंसर के किसी भी लक्षण पर ध्यान ज़रूर दें। 

आयु एक अन्य प्रमुख कारक है। महिलाओं में निदान की औसत आयु 73 है। 55 वर्ष से अधिक उम्र की किसी भी महिला को लक्षणों के लिए अतिरिक्त नजर रखनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: कैंसर के उपचार में ये है कीमोथेरेपी का काम 

किडनी कैंसर: जोखिम, निदान और उपचार 

Myths Vs Facts: एचपीवी वैक्सीन और सर्वाइकल कैंसर 

Related Posts

Leave a Comment

Click here to subscribe to our newsletter हिन्दी