कैंसर रोगियों के लिए इम्यून बूस्टिंग फूड (Immune boosting foods for cancer patients!)

by Team Onco
93 views

कैंसर सबसे घातक बीमारियों में से एक है और यह व्यक्ति के इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है। कैंसर से लड़ने के लिए जरूरी है कि आप अपनी सेहत का ध्यान रखें। कैंसर कोशिकाओं पर हमला करने की प्रक्रिया में, कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी और इम्यूनोथेरेपी कुछ हद तक आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune system) से समझौता कर सकते हैं। इससे न्यूट्रोपेनिया नामक स्थिति पैदा हो सकती है, जहां आपके रक्त में न्यूट्रोफिल नामक संक्रमण से लड़ने वाली व्हाइट ब्लड सेल की संख्या नाटकीय रूप से गिर जाती है। 

रोगियों के खाने के लिए कुछ इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ उपलब्ध हैं। 

कैंसर के मरीज निम्नलिखित खाद्य पदार्थ खा सकते हैं:

यहां, हम आपको उन खाद्य पदार्थों के बारे में जानने में मदद करेंगे जिनका नियमित रूप से सेवन किया जा सकता है:

ब्रोकोली (Broccoli)

ब्रोकोली

ब्रोकोली

ये एक ऐसा भोजन है जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा दे सकता है और कैंसर से लड़ने में मदद कर सकता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर सब्जी है जो विटामिन सी और फोलेट से भरपूर होती है। इसमें कैरोटेनॉयड्स जैसे उच्च स्तर के एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं, जो शक्तिशाली पौधे यौगिक हैं जो हमारी कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचा सकते हैं।

जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली कम प्रभावी होती जाती है। हालांकि, ब्रोकली को वृद्ध वयस्कों और कैंसर के लिए कीमोथेरेपी या रेडिएशन उपचार से गुजरने वालों में इम्यून फंक्शन को बहेतर बनाने में मदद करता है।

बेरीज (Berries)

बेरीज

बेरीज

आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए जामुन हेल्दी है। वे एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं। 

लहसुन (Garlic)

लहसुन

लहसुन

कैंसर रोगियों के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए लहसुन सबसे अच्छे खाद्य पदार्थों में से एक है। यह एक ऐसा पदार्थ है जिसका उपयोग सदियों से कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है। इसमें एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो यौगिक होते हैं जो कोशिकाओं को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट कैंसर और हृदय रोग से बचाने में भी मदद करते हैं।

एवोकाडो (Avocado)

एवोकाडो

एवोकाडो

एवोकाडो हाई फैट वाला फल है और कैंसर से लड़ने में मददगार है। यह फल मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड से भरपूर होता है, वही फैट जो जैतून के तेल और नट्स में होती है। ये फैट रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कैंसर के खतरे को कम करते हैं। आप अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए एवोकाडो का उपयोग कर सकते हैं, जिसमें उन्हें स्मूदी, सलाद और आमलेट में शामिल करना शामिल है।

डॉयफ्रुइट्स (Dryfruits)

डॉयफ्रुइट्स

डॉयफ्रुइट्स

कैंसर रोगियों के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए बादाम और अन्य नट्स एक बेहतरीन विकल्प हैं। इनमें विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कैंसर कोशिकाओं से लड़ने में मदद करते हैं और उन्हें नए ट्यूमर बनाने से रोक सकते हैं। इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम, कॉपर, जिंक, फोलेट, सेलेनियम और विटामिन बी6 जैसे अन्य पोषक तत्व भी होते हैं जो आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने के लिए अधिक व्हाइट ब्लड सेल्स का उत्पादन करने में मदद कर सकते हैं। 

कद्दू के बीज (Pumpkin seeds)

कद्दू के बीज

कद्दू के बीज

यह राइबोफ्लेविन, नियासिन, थियामिन, पैंटोथेनिक एसिड और फोलेट्स जैसे बी विटामिन का एक उत्कृष्ट स्रोत है। कद्दू के बीज अवसाद से लड़ने में मदद करने के लिए भी जाने जाते हैं, एल-ट्रिप्टोफैन के लिए धन्यवाद, एक यौगिक जो आपके मूड को बढ़ाने में भूमिका निभाता है। यह गुर्दे की पथरी, मूत्राशय की पथरी और यहां तक कि कैंसर जैसी कई स्थितियों से लड़ने में भी मदद कर सकता है।

घर का बना स्मूदी (Homemade smoothies)

घर का बना स्मूदी

स्मूदी

घर की बनी स्मूदी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और कैंसर से लड़ने का एक शानदार तरीका है। वे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होते हैं, जो शरीर को कैंसर कोशिकाओं से लड़ने में मदद करते हैं। मुख्य सामग्री जो होममेड स्मूदी को इतना स्वस्थ बनाती हैं, वे हैं फल, सब्जियाँ, जड़ी-बूटियाँ और मसाले। ये सामग्रियां पोषक तत्वों की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती हैं जो सूजन को कम करने, पाचन में सुधार करने, बलड शुगर लेवल को नियंत्रित करने और कैंसर को रोकने में मदद करती हैं।

टमाटर (Tomato)

टमाटर

टमाटर

इस रसीले फल में कैरोटेनॉयड्स की मात्रा अधिक होती है, यह एक कार्बनिक रंगद्रव्य है जिसके बारे में माना जाता है कि यह स्तन कैंसर के खतरे को कम करता है। कैरोटीनॉयड वाले अन्य खाद्य पदार्थों में गाजर, शकरकंद, पपीता, पालक और केल शामिल हैं। टमाटर में एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपीन भी उच्च होता है, जो रक्त में “खराब” वसा के स्तर को रोकने में मदद करता है।

शोरबा (Shorba)

शोरबा

शोरबा

कीमोथेरेपी के दौरान स्वाद परिवर्तन सामान्य होते हैं और पानी को आमतौर पर अलग स्वाद के लिए कहा जाता है। ऐसे मामलों में, आपको हाइड्रेटेड रखने के लिए शोरबा एक बढ़िया विकल्प है। यह सब्जियों, जड़ी-बूटियों, और यदि वांछित मांस या पोल्ट्री, प्लस हड्डियों के साथ पानी उबाल कर बनाया गया है। इस प्रक्रिया के दौरान, इलेक्ट्रोलाइट्स को द्रव में छोड़ा जाता है। ये आवेशित कण, जिनमें सोडियम, पोटेशियम, क्लोराइड और कैल्शियम जैसे पोषक तत्व शामिल हैं, आपके शरीर को ठीक से काम करने में मदद करते हैं। यदि आप उल्टी या पसीने के माध्यम से इलेक्ट्रोलाइट्स खो रहे हैं तो शोरबा पर घूंट मददगार हो सकता है।

साबुत अनाज (Whole grains)

साबुत अनाज

साबुत अनाज

ब्राउन राइस, जौ, ओट्स और राई जैसे साबुत अनाज हमारे आहार का प्रमुख हिस्सा हैं। वे प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और कैंसर से लड़ने के लिए सदियों से उपयोग में हैं। ये फाइबर और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करते हैं।

इनमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो कैंसर कोशिकाओं से लड़ने में मदद करते हैं और उन्हें फैलने से रोकते हैं। हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि साबुत अनाज हृदय रोग, मधुमेह, वजन बढ़ने, उच्च कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है।

Related Posts

Leave a Comment